कानपुर 24 जनवरी चाइल्ड लाइन कानपुर द्वारा कानपुर नगर में विगत नवंबर 2019 से आगामी मार्च 20 24 तक स्वच्छता एक्शन प्लान के तहत विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है जिस क्रम में आज सुभाष चिल्ड्रन होम 19 राजीव विहार नौबस्ता कानपुर नगर के बच्चों के बीच स्वच्छता पर आधारित विशेष मुद्दों बायो कंपोस्टिंग हाइजीन एग्रेसन रिड्यूस रीयूज एवं की साइकिल पर कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें बच्चों को स्वच्छता पर आधारित विशेष मुद्दों पर जागरूक किया गया कार्यशाला का आलम मुख्य अतिथि डॉक्टर के के मिश्रा जी का माल्यार्पण करके किया गया मुख्य अतिथि डॉ केके मिश्रा ने बच्चों को बताया कि सफाई रखने के लिए सर्वप्रथम हाथ धोना एक महत्वपूर्ण कार्य है। यह न केवल कीटाणु रोकने मेंमदद करती है बल्कि एक शख्स जीवन जीने में भी मदद करती है साथ ही उन्होंने बताया कि स्वच्छता पर आधारित विशेष गत मुद्दों बायो कंपोस्टिंग हाइजीन वेस्ट फिगरेशन रिड्यूस रीयूज एवं रीसाइक्लिंग के बारे में बताते हुए बताया कि वैश्विक रेशन ढीले व सूखे कचरे को अलग-अलग रखने को दर्शाता है जिसका मुख्य उद्देश्य खाद बनाने के लिए गीले कचरे का उपयोग करना व सूखे कचरे को आसानी से साइकिल करना होता है उसके लिए हम को कई उपाय करने चाहिए जैसे रसोई में गीले और सूखे कचरे के लिए अलग-अलग कंटेनर रखते रखने चाहिए सूखे कचरे के लिए दो बैग होने पर एक में कागज और दूसरे में प्लास्टिक रखना चाहिए साथ ही उन्होंने बताया कि हम सभी लोग अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में अनेक कीटाणुओं के संपर्क में आते हैं यह सूक्ष्म जीव हमेशा हमारे आसपास मौजूद रहते हैं जैसे कि दरवाजों पर पानी की टंकियों पर बिजली के स्विच ओं पर रेलिंग पर और बच्चों के खिलौनों पर आदि हालांकि इन वस्तुओं को छुए बिना जीना असंभव है लेकिन कीटाणु रहित जीवन जीने के लिए हमें सतर्क रहने की आवश्यकता है आठ तानिया शरीर के किसी अन्य भाग को छूने से और संक्रमित हाथ से खाना खाने से किसानों हमारे शरीर में प्रवेश कर जाते हैं जिससे हत्या तरह की बीमारियां फैलती है इसलिए हमें हाथ धोने की आदत डालनी चाहिए जिससे हमारा जीवन बीमारी मुक्त बन सके लाइन के निदेशक कमल कांत तिवारी ने बताया कि विभिन्न स्कूलों के बच्चों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से नवंबर 19 से मार्च 20 तक स्वच्छता एक्शन प्लान का आयोजन किया जा रहा है इसका मुख्य उद्देश्य बच्चों का बच्चोवजन सामान्य को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के साथ-साथ गंदगी से होने वाली बीमारियों से बचाना है साथ ही उन्होंने राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर बताया कि नवजात बालिकाओं की हत्या का विरोध करने के साथ जनसामान्य को नवजात बालिकाओं की हत्या करने के बजाय उन्हें उसे चाइल्डलाइन अथवा किसी मान्यता प्राप्त दत्तक ग्रहण इकाई को सौंपना चाहिए जिसके साथ ही उन्होंने बताया कि हमारे समाज में आज बालिकाओं को प्राथमिकता देने की बात कही जाती है लेकिन जमीनी स्तर पर देखा जाए तो हमारे समाज में अभी बालिकाओं का त्याग अधिक किया जा रहा है और लड़के की चाह में लड़कियों की हत्या हुआ कन्या भ्रूण हत्या आए दिन देखने को मिलता है चाय लाइन के समन्वयक फिटिंग धवन ने बताया कि डॉ केके मिश्रा जी द्वारा अपना बहुमूल्य समय स्वच्छता पर आधारित विशेष मुद्दों बायो कंपोस्टिंग हाइजीन वेस्ट फिगरेशन रिड्यूस एवं साइकिल आदि के प्रति बच्चों को जागरूक करने के लिए दिया गया जिसके लिए हम इनका आभार प्रकट करते हैं कार्यक्रम के दौरान चाइल्ड लाइन कानपुर के निदेशक कमल कांत तिवारी समन्वयक प्रतीक धवन मंजिला तिवारी तिवारी शिवानी सोनवानी प्रमोद श्रीवास्तव पांडे रेलवे चाइल्ड समन्वयक गौरव सचान सहित सुभाष चिल्ड्रन होम होम के 3 दर्जन से अधिक बच्चे संस्था में इंटरशिप एवं छात्राएं उपस्थित रहे