लखनऊ। लखनऊ जर्नलिस्ट एसोसिएशन की ओर से भी दारूलशफा स्थित एलजेए कार्यालय में शोकसभा आयोजित की गयी जिसमें एलजेए के सदस्यों ने हार्दिक श्रद्धांजलि अर्पित की। एलजेए अध्यक्ष आलोक कुमार त्रिपाठी ने स्वर्गीय अरविन्द शुक्ला के साथ बिताये हुए पलों को याद करते हुए कहा कि श्री शुक्ल वास्तव निर्भीक पत्रकार थे साथ ही व्यवहार में बहुत ही मृदुभाषी भी थे, श्री शुक्ल ने पत्रकारिता के मामले में खबरों से कभी भी समझौता नहीं किया जिसके चलते कई बार उनका सरकार व सरकारी मशीनरी से टकराव भी हुआ लेकिन उन्होने हार नही मानी। शी शुक्ल पत्रकारिता को मिशन के तौर पर करते थे यही कारण था कि बड़ी संख्या में परेशान लोग भी मदद माँगने उनके पास जाते थे और वे सभी की मदद में आगे रहते थे।


शोक सभा में आलोक त्रिपाठी ने घोषणा की कि लखनऊ जर्नलिस्ट एसोसिएशन श्री शुक्ल की स्मृति में “अरविंद शुक्ला पत्रकारिता पुरस्कार” नाम से प्रतिवर्ष ऐसे पत्रकारों को सम्मानित करेगी जिन्होने अपनी लेखनी के माध्यम से पत्रकारिता में एक अलग पहचान बनाई है।
शोक सभा में एलजेए के महामंत्री रूपेंद्र उपाध्याय, मंत्री अर्जुन दि्वेदी, कोषाध्यक्ष संजय पांडेय, विशेष आमंत्रित सदस्य मो. इनाम खान, सुनील कुमार पांडेय, त्रिनाथ शर्मा, रवि शर्मा, सुनील त्रिपाठी, अजय गुप्ता, रंजीत सिंह, डाॅ. विनय शर्मा, राजेश वर्मा, सौमित्र गांगुली, रजनीश एवं प्रदीप सिंह आदि ने श्री शुक्ल के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हे श्रृद्धाजंलि अर्पित की। सभा के अंत में दो मिनट का मौन रखा गया।