संवाददाता {शोभित पाण्डेय}

  • जी हाँ हम बात कर रहे है उन्नाव जिले के नवाबगंज निवाशी 17 वर्षी युवक पर्व मिश्रा की जो रातों रात लाखो करोड़ो लोगो के दिलों में राज कर रहा है,दरअसल यूँ तो सभी जानते है कि हर किसी न किसी के अंदर कोई न कोई टैलेंट जरूर होता छिपा होता है बस देरी होती है तो उसे पहचानने की जो पहचान लेता है उसका छप जाता है जो नही पहचान पाता उसका छिप जाता है ऐसा ही कुछ हुआ है पर्व मिश्रा के साथ जी हाँ आपको बताते चले कि पर्व मिश्रा को गाना गाने का बचपन से ही बहुत शौक था,एक दिन पर्व ने अपने नाम का ही यूट्यूब चैनल बनाया और उसमें एक वीडियो बनाकर पोस्ट किया माँ मैसप जिसमे उनका साथ दिया डायरेक्टर जतिन सिंह ने और और संगीत दिया है आशीष दीक्षित ने और ये गाना 29 सितम्बर को पर्व मिश्रा के यूट्यूब चैनल में अपलोड हुआ और 20 दिन के अंदर ही लगभग 1 लाख से ज्यादा लोगो ने इसे देखा, सुना,और बहुत ज्यादा पसंद किया देखते ही देखते ये गाना लोगो के दिलो में छा गया और तेज रफ्तार से ये गाना लोगो तक पहुंचने लगा आपको बता दे कि लोगो ने इस गाने को बहुत पसंद किया है और इस गाने में भरपूर साथ दिया निहाल खान जो कि एक बहुत बड़े फेमस टिकटॉकर है और इनके जरिए लोगो ने टिक टॉक पे इस गाने को 6 लाख से भी ज्यादा बार लोगो ने देखा है इसी प्रकार उन्नाव के पर्व मिश्रा का छिपा टैलेंट चंद दिनों में सुर्खियों में आ गया।
  • पर्व मिश्रा ने बताया कि अगर आप मे भी कोई टैलेंट है तो उसे छिपने न दे पहचाने और एक बार आजमाएं।
  • उन्नाव के नवाबगंज में रहने वाले पर्व मिश्रा महज 17 वर्ष की उम्र में ही लाखों करोड़ों लोगों की दिल की धड़कन बन चुके है और इनके पिता कृष्ण मोहन मिश्रा ने बताया है कि पर्व को गाना गाने का बहुत शौक था जिससे आज वो यहाँ तक पहुंच पाया है और उन्होने बताया कि बॉलीवुड के मशहूर सिंगर अर्जित सिंह जी को अपना गुरु मानते है और पर्व अभी इंटरमीडिएट का छात्र है।
  • आप सभी लोग इस गाने को को पर्व मिश्रा नामक यूट्यूब चैनल में सर्च कर सकते है।
  • करोड़ो लोगो के दिलो में राज करने वाले पर्व मिश्रा के प्रशंशको ने बताया है कि इस गाने की;-(“पगली है दुनिया,रब को मनाने,मन्दिर मजारों तक जाती है घर मे ही मेरे, होता है तीरथ, मुझको नजर जब माँ आती है।”)इन कड़ियों ने दिल जीत लिया है।