माइक्रोसॉफ्ट ई-मेल सॉफ्टवेयर में आई तकनीकी खामी ने 20 हजार से अधिक अमेरिकी संगठनों की परेशानी बढ़ा दी है। इन कंपनियों का निजी डाटा दांव पर लग गया है। अमेरिकी सरकार में हैकिंग की जानकारी रखने वाली एक व्यक्ति ने शुक्रवार को  इसकी जानकारी दी।

माइक्रोसॉफ्ट ने यूजर्स को किया था आगाह 
हाल ही में माइक्रोसॉफ्ट ने अपने ग्राहकों को एक नए सोफिस्केटेड नेशन-स्टेट साइबर हमले के खिलाफ आगाह किया है, जिसका मूल चीन में है और मुख्य रूप से दिगग्ज टेक कंपनी के ‘एक्सचेंज सर्वर’ सॉफ्टवेयर को निशाना बना रहा है। इसे ‘हाफनियम’ कहा जा रहा है, यह चीन से संचालित होता है और एक्सफिलट्रेटिंग की सूचना के लिए अमेरिका में एनजीओ, संक्रामक रोग रिसर्चर्स, कानून फर्मों, उच्च शिक्षा संस्थानों, रक्षा ठेकेदारों, पॉलिसी थिंक टैंकों को अपना निशाना बना रहा है।

चीनी वायरस, अमेरिकी सर्वर से हो रहा संचालित
माइक्रोसॉफ्ट के कॉर्पोरेट वाइस प्रेसीडेंट (कस्टमर सिक्योरिटी, ट्रस्ट) टॉम बर्ट ने कहा कि हाफनियम चीन से है, लेकिन यह मुख्य रूप से अमेरिका में लीज्ड वर्चुअल प्राइवेट सर्वर (वीपीएस) से अपने ऑपरेशन का संचालन करता है। एक्सचेंज सर्वर चलाने वाले ग्राहकों की सुरक्षा के लिए कंपनी ने सुरक्षा अपडेट जारी किए हैं उसमें कोविड-19 से लड़ने वाले स्वास्थ्य संगठनों, राजनीतिक अभियानों और 2020 के चुनावों में शामिल अन्य, और प्रमुख नीति निर्धारक सम्मेलनों में शामिल होने वाले हाईप्रोफाइल लोगों को निशाना बनाए जाने के बारे में है।

 

 

@TODAYINDIALIVENEWS